मिजोरम राज्य की पूरी जानकारी Mizoram Information In Hindi

Mizoram Information In Hindi मिजोरम भारत का उत्तर पूर्वी राज्य हैं । मिजोरम की राजधानी अइजोल हैं । मिजोरम का सबसे बड़ा शहर आइजोल हैं । मिजोरम का क्षेत्रफल 21,0181 वर्ग किमी हैं । मिजोरम में 8 जिले हैं । मिजोरम की जनसंख्या 10,97,206 हैं । मिजोरम की राजभाषा मिजो , अंग्रेजी और हिंदी हैं । मिजोरम का साक्षरता दर 91.03% हैं । मिजोरम का राजकीय पशु पहाड़ी गिब्बन हैं । मिजोरम का राजकीय पक्षी मादा तितर हैं ।

Mizoram Information In Hindi

मिजोरम राज्य की पूरी जानकारी Mizoram Information In Hindi

मिजोरम का भूगोल –

मिजोरम का क्षेत्रफल 21,081 वर्ग किमी हैं । मिजोरम पहाड़ियां , घाटीयां , नदीयां और झीलों का राज्य‌ हैं । मिजोरम के पूर्व और दक्षिण में म्यांमार , पश्चिम में बांग्लादेश , उत्तर में मणिपूर , असम और त्रिपुरा हैं । मिजोरम की सबसे लंबी नदी छिमतुईपुई हैं । तल्वांग , तुइचांग , तुईपुई , तुत यह नदीयां मिजोरम में बहती हैं । मिजोरम की सबसे ऊंची चोटी फौंगपुई – नीला पर्वत हैं । इसकी ऊंचाई 2,210 मीटर हैं ।

मिजोरम की अर्थव्यवस्था –

मिजोरम की अर्थव्यवस्था का मुख्य आधार कृषी क्षेत्र हैं । मिजोरम के 80% लोग कृषी क्षेत्र पर निर्भर हैं । मिजोरम में सीढ़ीदार खेती और झूम खेती की जाती हैं । मिजोरम में चावल , तिलहन , दाले , मक्का ,अंगूर , केला , मैडिरियन संतरा , पपीता , गूलाब ,बर्ड ऑफ पेराडाइज , एंथुरियम , आर्किड चिरासेथिंमम, अदरक , हल्दी , काली मिर्च , जड़ी-बूटियों की खेती मिजोरम में की जाती हैं ।

राज्य में बलुआ और चिकनी मिट्टी के पत्थर , सिल्टस्टोन , ग्रेवेक और मडस्टोन यह खनिज पाये जाते हैं । मिजोरम में हथकरघा , हस्तशिल्प , फर्नीचर , वस्त्र उद्योग यह उद्योग किये जाते हैं ।

मिजोरम के त्यौहार –

1 ) मिमकुट –

मिमकुट यह त्यौहार मिजोरम के प्रमुख त्यौहारों में से एक हैं । यह त्यौहार अगस्त या सितंबर महिने में मनाया जाता हैं । जब मक्के की फसल कटाई करने के लिए तैयार होती हैं तब मिजोरम में मिमकुट त्यौहार मनाया जाता हैं । इस दिन एक स्मारक मंच बनाया जाता हैं ।

इधर लोग पिछले वर्ष मृत्यु होने वाले लोगों को सम्मान देने के लिए इकट्ठा होते हैं । इस दिन मृत आत्माओं को मक्का , रोटी , कपडे , आभूषण प्रदान करते हैं । इस दिन स्थानीय लोग पारंपारिक नृत्य करते हैं और खेल खेलते हैं ।

2 ) पावल कुट –

यह त्यौहार दिसंबर महिने में दो दिन मनाया जाता हैं । यह त्यौहार प्रकृती का जश्न मनाने के लिए हैं । यह त्यौहार बहोत उत्साह से मनाया जाता हैं । त्यौहार के दौरान चावघनावत नाम का अनुष्ठान होता हैं । इस दौरान मां अपने बच्चों को मांस और अंडे खिलाती हैं इसके बदले बच्चे भी अपनी मां को अंडे और मांस खिलाते हैं ।

3 ) चापचर कुट –

यह त्यौहार मार्च महिने में मनाया जाता हैं । यह त्यौहार सात दिनों के लिए मनाया जाता हैं । इस त्यौहार पर नृत्य और संगीत होता हैं । इस त्यौहार पर लोग बाॅंस के जंगलों को काटकर झूम या मौसमी खेती करते हैं । कटे हुए बाॅंस के पेडों का लोग सुकने का इंतजार करते हैं । बाद में इसे जलाया जाता हैं ।

4 ) एंथुरियम महोत्सव –

यह त्यौहार मिजोरम में सितंबर महिने में तीन दिनों के लिए मनाया जाता हैं । एंथुरियम फूलों के खेती को बढ़ावा देने के लिए आयोजित किया जाता हैं । यह त्यौहार मिजोरम सरकार के पर्यटन विभाग द्वारा आयोजित किया जाता हैं ।

यह त्यौहार रीक गांव के रीक पर्वत की तलहटी में आयोजित किया जाता हैं । इस त्यौहार पर एंथुरियम फूलों का प्रर्दशन किया जाता हैं और बेचे जाते हैं । इसके अलावा इस त्यौहार में हस्तशिल्प , हथकरघा वस्तु , फल के रस , आचार यह भी बेचे जाते हैं । इस त्यौहार पर संगीत समारोह भी होता हैं ।

5 ) क्रिसमस –

क्रिसमस त्यौहार भी मिजोरम में बहोत उत्साह से आयोजित किया जाता हैं । क्रिसमस की पूर्व संध्या पर मिजोरम के चर्चों में यीशु मसीह के जन्म का जश्न मनाने के लिए प्रार्थना औ

र पूजा होती हैं । क्रिसमस कैरोल और फ्री गॉस्पेल स्ट्रीट कॉन्सर्ट भी क्रिसमस की पूर्व संध्या कार्यक्रम को आयोजित किया जाता हैं । क्रिसमस के सामुहिक भजन रात के 12 बजे तक चलते हैं । बच्चे शाम के समय क्रिसमस ट्री के आसपास खेलते हैं । क्रिसमस के आखिरी दिन कुछ व्यंजन बनाकर खाये जाते हैं ।

मिजोरम के पर्यटन स्थल –

1 ) आइजोल –

आइजोल मिजोरम का सबसे बड़ा शहर और मिजोरम की राजधानी हैं । यह शहर पर्यटकों को बहोत लोकप्रिय हैं । यह शहर खुबसूरत पहाड और घाटियों से घिरा हुआ हैं । आइजोल का बारा बाजार लोकप्रिय हैं ।

यहां आप पारंपारिक कपड़े , खाद्य-पदार्थ , हस्तकला वस्तुओं की खरेदी कर सकते हो । आइजोल में मिजोरम राज्य संग्रहालय भी हैं । इसमें वस्तु , तस्वीरें , पारंपारिक संगीत वाद्यतंत्र हैं । आइजोल में रीक , वांटवांग फाॅल्स , सोलोमन मंदिर , फॉकलैण्ड अमयुज़मेंट पार्क यह जगह भी देखने के लिए हैं ।

2 ) लुंगलेई –

लुंगलेई अपने प्राकृतिक सुंदरता के लिए पर्यटकों को लोकप्रिय हैं । यहां आप ट्रेकिंग , कैंपिंग , बर्ड वाॅचिंग कर सकते हैं । लुंगलेई में थोरंगतलंग वन्यजीव अभयारण्य हैं । इधर आप बाघ , तेंदुआ , बंदर , जंगली बिल्लीयां देख सकते हैं ।

लुंगलेई में साजा वन्यजीव अभयारण्य भी हैं । यह हरे भरे पेड़ , जीव , रंगीन जंगली फुल और विदेशी वनस्पतियों से घिरा हुआ हैं । यहां आप तेंदुए , भौंकने वाले हिरण , बंदर भी देख सकते हैं । इसके अलावा लुंगलेई में लुंगलेई ब्रीज , नघासिह स्ट्रीम , सैकुटी हाॅल यह जगह भी देखने के लिए हैं ।

3 ) कोलासिब –

कोलासिब में नदीयां , पेड़ और अभयारण्य देखने लायक हैं । कोलासिब में तामदिल झील हैं । इस झील के चारों ओर सुंदर घास के मैदान हैं । यह जगह टहलने के लिए अच्छी हैं । इस झील में बहोत प्रकार की मछलियां भी हैं ।‌ कोलासिब का नीला पहाड़ देवताओं के निवास के रूप में भी जाना जाता हैं । यहां बहोत प्रकार की जड़ी बूटियां और ऑर्किड उगते हैं । कोलासिब में तलवंग नदी , वैरेंगटे , डंपा अभयारण्य , फौंगपुइ यह जगह भी देखने के लिए हैं ।

4 ) साईहा –

साईहा शहर को पहले सियाहा नाम से भी जाना जाता था । यह तेजी से विकसित होने वाला शहर हैं । इधर आप मछली भी पकड़ सकते हैं । साईहा में पलक वन्यजीव अभयारण्य और पलक दिल यह जगह भी देखने के लिए हैं । नवंबर से मई यह समय साईहा में घुमने के लिए अच्छा हैं ।

5 ) चंपई –

मिजोरम में चंपई पर्यटन स्थल अपने सुंदरता के लिए जाना जाता हैं । चंपई शहर में खुबसूरत घाटियां , झील , ऐतिहासिक स्थल और स्मारक हैं । यह पहाड़ियों से सजा हुआ स्थान हैं । चंपई में कुंग्रवी नाम की गुफा हैं । यह बहोत ही पुरानी और दर्शनीय हैं । इसके अलावा चंपई में तियु लुइ नदी , रिहदिल झील , लियोनिहारी लुन्गलेन तलांग यह जगह भी देखने के लिए हैं । चंपई में आप ट्रेकिंग भी कर सकते हो।

यह भी जरुर पढ़े :-


मिजोरम का मुख्य भोजन क्या है?

मिजोरम के प्रतिष्ठित व्यंजनों में से एक ‘बाई‘ है, जो पत्तेदार साग, स्थानीय जड़ी-बूटियों और मांस से बना एक स्वस्थ और स्वादिष्ट स्टू है। एक अन्य लोकप्रिय व्यंजन ‘ज़ू’ है, जो एक मसालेदार शोरबा है जो सूअर, मछली या चिकन से तैयार किया जाता है और स्थानीय मसालों के साथ पकाया जाता है।

मिजोरम क्यों प्रसिद्ध है?

मिजोरम घने जंगलों, जनजातियों, कुछ हिल स्टेशनों और कई राष्ट्रीय उद्यानों का घर है। यह अपने पर्यटन, संस्कृति और परंपराओं के लिए जाना जाता है। आइजोल का हिल स्टेशन मिजोरम की राजधानी है। दुनिया भर से लोग मिजोरम के जंगलों और परिदृश्यों के बीच आराम करने और आराम करने के लिए आते हैं।


मिजोरम में कौन सा त्यौहार मनाया जाता है?

पावल कुट त्योहार

मिजोरम में कौन सी सब्जी प्रसिद्ध है?

बैम्बू शूट फ्राई

मिजोरम का लोक नृत्य क्या है?

चेरोकान या बाँस नृत्य 

Leave a Comment