Heart Touching Life Quotes In Hindi

Heart Touching Life Quotes In Hindi आज के इस लेख में आपके लिए लेके आए है हार्ट टचिंग कोट्सहिंदी में लेके आए है। इस तरह के प्रकृति पर सुविचार आपको मिलना मुश्किल है। आप यह लेख अपने मित्रो के साथ साझा कर सकते हैं।

बड़े ही अजीब हैं ये जिन्दगी के रास्ते, 
अनजाने मोड़ पर कुछ लोग अपने बन जाते हैं, 
मिलने की खुशी दें या न दें, 
मगर बिछड़ने का गम जरूर दे जाते हैं.

कभी जो ज़िन्दगी में थक जाओ,
तो किसी को कानो-कान खबर भी ना होने देना,
क्योकि, लोग टूटी हुए इमारतों की ईंटो तक उठा कर ले जाते है.

कल न हम होंगे न कोई गिला होगा,
सिर्फ़ सिमटी हुई यीदों का सिलसिला होगा,
जो लम्हे हैं चलो हँस कर बिता लें,
जाने जिंदगी का कल क्या फैसला होगा.

जिंदगी के उस मोड़ पर खड़े हैं,
जहाँ यह समझ नहीं आ रहा है,
 हम जिंदगी के मजे ले रहे हैं,
या जिंदगी हमारे मजे ले रही है.

हर किसी को जिंदगी दो तरीके से जीना चाहिये,
पहला जो हासिल है उसे पसन्द करना सीख लो,
और दूसरा पसन्द है उसे हासिल करना सीख लो.

मुस्कुराते ?रहोगे तो दुनिया आपके क़दमों में होगी,
वरना आंसुओं को तो तो आँखें ?भी पनाह नहीं देती।

लड़को की ज़िन्दगी आसान कहाँ साहब
ख्वाहिशे मर जाती है,
उनकी ज़िम्मेदारियों के नीचे आ कर।

पानी में पत्थर मत मारो उसे भी कोई पिता होगा,
जिंदगी में उदास कभी ना रहना यारों,
क्योंकि तुम्हें भी देख कर कोई जीता होगा।

कभी बात बात पर याद किया करते थे जो हमे,
आज हमे महसूस तक नहीं करते।

जरूरी नहीं बहुत सारे दोस्त हो,
एक सच्चा दोस्त ही काफी होता है,
जो हमारे हंसी के पीछे का दुख समझ सके।

लडाई झगड़ा चाहे कितना भी हो,
मगर कभी परिवार से अलग मत होना,
क्योंकि उन पत्तों की कोई कद्र नहीं करता
जो पेड़ से अलग हो जाते है।

अकेले रहने में और अकेले हो जाने में बहुत फर्क होता है,
जिन्हें मालूम है कि अकेलापन क्या होता है,
वो लोग हमेशा दूसरों के लिए हाज़िर रहते है।

मैं हँसता रहता हूँ गरीब होकर,
वो मुस्कुरा भी नहीं पाता अमीर होकर।

ना सोचा ना समझा बस छोड़ दिया,
बड़ा मासूम था मेरा दिल उसने तोड़ दिया।

अच्छा इंसान अपने कर्मों से ही पहचाना जाता है,
क्योंकि अच्छी बातें तो दीवारों पर भी लिखी होती हैं।

कितना हसीन कल का दिन था,
तुम थी हम थे और एक अन्धेरी रात थी,
पर अफ़सोस ये है कि वो कल था।

कभी कभी पत्थर की ठोकर से भी खरोंच तक नहीं आती,
और कभी जरा सी बात से इंसान बिखर जाता है।

प्यार करूँगा तो धोखा मिलेगा,
दोस्ती करूँगा तो ग़द्दारी,
अब मुझे अकेले जीना का शौक़ है,
भाड़ में जाए ये दुनियां सारी।

रिश्तों को दौलत से मत तोलो,
अक्सर साथ छोडने वाला अमीर
और साथ निभाने वाला गरीब ही होता है।

जरूरी नहीं की कुछ तोड़ने के लिए पत्थर ही मारा जाए,
लहजा बदल कर बोलने से भी बहुत कुछ टूट जाता है।

जिन्हें मालूम है कि अकेलापन क्या होता है,
वो लोग हमेशा दूसरों के लिए हाज़िर रहते है।

ऐ आईने तेरी भी हालत अजीब है,
मेरे दिल❤ की तरह तुझे भी बदल देते है
यह लोग तोड़ने? के बाद।

अरे! मुझे मत बताइए
ठोकर का मतलब साहब,
मैं एक अरसे तक
पत्थर रहा हूँ।

प्यार तो किस्मत से मिलता है,
किसी के लिए रोने से
कोई अपना नहीं बनजाता।

कैसे हो पायेगी
अच्छे इंसान की पहचान,
दोनो ही नकली हो गए है
आँसू और मुस्कान।

देखी है दरार आज मैंने आइने में,
पता नहीं शीशा टूटा था या मै।

बिछड़ जाएँगे हम दोनों ज़मीं पर,
ये उसने आसमाँ पर लिख दिया है।

अफ़सोस ये नहीं की
वो दिल तोड़कर चले गए,
अफ़सोस ये है की उनपर
खुदसे भी ज्यादा ऐतबार किया।

ये दूरियों का भी
अपना अलग अंदाज़ है,
यही बताती है की ये
नजदीकियां भी कितनी खास है।

किसी के साथ रहना है तो
दिल से रहो मज़बूरी से नहीं।

लोग अब मोहब्बत नहीं,
मोहब्बतें करने लगे हैं।

इश्क में मौत का अहसास किया है,
और वो पूछते हैं
मोहब्बत में क्या खास किया है।

कुछ वक़्त ज़िन्दगी के
जो वक़्त से पहले खर्च हो गए।

काश फुरसत में किसी को ख्याल आ जाए,
की कोई याद करता है
उन्हें फरिश्ता समझकर।

सीने में जो दब गए हैं,
वो ज़ज्बात क्या कहें,
ख़ुद ही समज लीजिए,
हर बात क्या कहें।

अब फर्क नहीं पड़ता
किसी के धोखा देने से,
क्योंकि अब देखना तो ये है की
साथ निभाता कौन है।

उसने पूछा मेरे बिना रह लोगे,
सांस रुक गई
और उन्हें लगा हम सोच रहे हैं।

जरा सा भी दूर जाऊँ
तो फरियाद करते हैं,
बहुत अच्छा लगता है
जब अपने याद करते हैं।

एक गलती रोज़ कर रहे है हम,
जो हम्हे मिलेगा ही नहीं,
उसी पर मर रहे है हम।

कैसे भरोसा करू गैरों के प्यार पर,
यहाँ अपने ही मजा लेते हैं
अपनों की हार पर।

छू जाते हो तुम मुझे
एक नया ख्वाब बनकर,
ये दुनिया खामखा कहती है
तुम मेरे करीब नहीं।

अब तलाश बस उसकी बाकी है,
जिसके बाद किसी की तलाश न रहे।

मुझ से जुदा हो कर भी
मुझ में बसर करता है,
अजीब शख्स है,
मेरी सांसो की फिक्र करता है।

तेरा स्पर्श उन पंखुड़ियों से भी कोमल है,
जो मेरे रोम -रोम में नशा सा भर देता है
तेरे इश्क का।

उसकी उंगलियां जब मेरे
हाथों को छू जाती है,
जैसे आसमां से गिरती पानी
की पहली बूँद ज़मीन को छू जाती।

हम नहीं सीख पा रहे है
ये तेरे शहर का रिवाज,
जिससे काम निकल जाए
उसे ज़िंदगी से निकाल दो।

तेरी यादों के सहारे जीना सीख लिया हैं,
सिरहाने के तकिया का सहारा लिया है।

तु कीसी से ना हारेंगा,
तुझको तो तेरा गुरुर ही मारेंगा।

यादें, ख्याल, ख्वाब
मेरे नाम कर गया,
बन्दा बुरा नहीं था,
बुरा काम कर गया।

इस कदर किसी एक
शख्स ने मुझे तोड़ दिया,
की अब किसी और से उम्मीद
रखना तक छोड़ दिया।

किसी को टूटकर चाहना अच्छा है,
लेकिन किसी को चाह कर तोड़ना नही।

खुशी तुम्हे देखने की,
गम तुम्हे आखिरी बार देखने की।

होंगे हैरान देख कर तुम भी,
खुद को इतना बदल लेंगे हम।

किसी से ईतना भी नफरत मत करो,
की उससे प्यार हो जाए।

वजह नफरत की मैंने तलाशी,
उसे मोहब्बत तो मुझसे बेवजह थी।

इज़ाज़त हो तो मांग लूँ तुम्हे,
सुना है तक़दीर लिखी जा रही है।

ऐ ज़िंदगी हमेशा एक शिकायत रहेगी तुजसे,
क्यों छीन लेती हैं
मेरे अच्छे दोस्त मुझसे।

बातों को बातों की
तरह संभल लिया,
किसी ने नहीं
हमने खुद को संभाल लिया।

नज़रें नहीं मिलाया हमसे उसने फ़िर कभी,
इश्क़ में फ़िर डूब जाने का डर उसको होता रहा।

देने के लिए मेरे पास कुछ नहीं है,
हां दिल है लेकिन वह किसी का गुलाम नहीं है।

इश्क़ करने का यही गुनाह है क्या,
उसकी यादें मुझे तड़पायेगी।

छोड़ो भी ये प्यार मोहब्बत की बाते,
तुम्हारे यु हाथ पकड़ लेने से ही
मेरा होश कहा रहता है।

इश्क की उम्र नहीं होती ना ही दौर होता है,इश्क तो इश्क है जब होता है बेहिसाब होता है,चाहे कितनी भी हो दूरी पर वो दिल के पास होता है, मिलने की कोई उम्मीद नहीं होती, फिर भी मिलने का इंतज़ार होता है। 

हर एक लिखी हुई बात को हर एक पढ़ने वाला नहीं समझ सकता,
“क्योंकि” लिखने वाला “भावनाएं” लिखता है
और लोग केवल “शब्द” पढ़ते हैं

आता है अगर कभी दिन ऐसा कि हम साथ नहीं रह सकते तो,
जगह दे देना दिल ❤ में अपने तुम्हारी आत्मा में मैं वास करूँगा।

सच कहूँ तो मुझे एहसान बुरा लगता है,
जुल्म सहता हुआ इंसान बुरा लगता है,
कितनी मसरुक हो गयी है ये दुनिया,
एक दिन ठहरे तो मेहमान बुरा लगता है।

ज़िन्दगी में कुछ गम जरुरी है
वर्ना खुदा को कौन याद करता,
मिलता नसीब चाहने से तो
खुदा से फरियाद कौन करता,
होता सुकून हर निगाह में तो
खुदा का दीदार कौन करता।

हाथ में उसको कलम ✍का आना अच्छा लगता है,
उसको भी स्कूल को जाना अच्छा लगता है,
बड़ा कर दिया मजबूरी ने वक्त से पहले वरना
सर पर किसको बोझ उठाना अच्छा लगता है ।

जब कभी मेरा मन उदास होता है,
तब तेरा चेहरा आसपास होता है।
तब मिलता है सुकून और विश्वास,
मां! तेरे आशीर्वाद का अहसास होता है।

जो था तुझ पर, तेरी बातों पर,
अब किसी और पर नहीं होता।
इस कदर टूटा हूं तेरे इश्क में,
की अब तो यकीन पर भी यकीन नहीं होता।

टूटे हुए सपनो और छुटे हुए अपनों ने मार दिया,
वरना ख़ुशी खुद हमसे मुस्कुराना ? सिखने आया करती थी।

दुनिया के बड़े से बड़े साइंटिस्ट ये ढूँढ रहे है की मंगल ग्रह पर जीवन है या नहीं ,
पर आदमी ये नहीं ढूँढ रहा कि जीवन में मंगल है या नही।

भूल कर भी अपने दिल ❤ की बात किसी से मत कहना,
यहाँ कागज भी जरा सी देर में अखबार ? बन जाता है।

लोग आपके बारे में अच्छा सुनने पर शक करते हैं
और बुरा सुनने पर तुरंत यकीन कर लेते हैं

फर्क होता है खुदा और फ़क़ीर मे,
फर्क होता है किस्मत और लकीर में,
अगर कुछ चाहो और न मिले तो समझ लेना,
कि कुछ और अच्छा लिखा ✍है तक़दीर में।

जब प्यार से किसी के दिल ❤ को कोई छू जाता है तो,
सब कुछ कितना प्यारा है,
यही एहसास उस दिल ❤को छू जाता है।

ये नामुमकिन है कोई मिल जाए तुम जैसा,
पर इतना आसान ये भी नहीं, तुम ढूंढ लो हम जैसा।

बिछड़ कर आप से हमको ख़ुशी अच्छी नहीं लगती,
?लबों पर ये बनावट की हँसी ?अच्छी नहीं लगती,
कभी तो खूब लगती थी मगर ये सोचते हैं हम,
कि मुझको क्यों मेरी ये ज़िन्दगी अच्छी नहीं लगती।

सच्चे प्यार❤ की यही पहचान है,
लड़ते है, झगड़ते हैं फिर भी एक दूसरे की फ़िक्र बहुत करते हैं

प्यार कभी किसी से इसलिए मत करो की आप उसे कंट्रोल कर सको,
इसलिए करो की आप उसे दुनिया की हर फ़्रीडम दे सको

प्यार करने का सलीका मैंने सीखा तुझसे,
एक तरफ़ा प्यार करके

हर एक सच्चा प्यार एक तरफा नहीं होता,
पर एक तरफ़ा प्यार हमेशा सच्चा होता है !

उम्मीद पर दुनिया टिकी है और मैं भी टिका हूँ,
कहीं शायद मेरा एकतरफ़ा इश्क तुमसे दोतरफा हो जाए !

दिल पर तू जुबां पर तेरा नाम है,
फिर भी तू मेरा क्यूँ नही है,
इसी बात से मैं परेशान हूँ

प्यार अपना है यह कहते कहते कभी यह पता
ही नहीं चला साला हमारा प्यार भी एकतरफा
निकलेगा

तू तो बेनकाब कर गई मेरे दो तरफा प्यार को
एकतरफ़ा कर गई

तू पसंद है मुझको बस कहने से डरता हूँ !
चोरी-चोरी बस तुझसे ही इश्क करता हूँ

जब मिलो किसी से तो जरा दूर का रिश्ता रखना,
बहुत तडपाते हैं,
अक्सर सीने से लगाने वाले

तुझे प्यार नहीं है मुझसे,ये जानता है दिल,
फिर भी रोज़ तेरी हाँ की उम्मीद लगाता है।

मुझे खोकर मालुम चलेगी कीमत मेरी,
अभी तुम्हारे पास हूँ तो तुम्हें कोई एहसास नहीं

बड़े सुकून से वो रहता है आज कल मेरे बिना,
लगता है जैसे सदियों से उसके उपर बोझ थे हम

हमे नहीं पता था जी ज़िंदगी क्या होती है ! बस तुम मिले और ज़िंदगी बन गए॥

दूर होकर भी कैसे दूर करें तुम्हें क्योकि महसूस जो करते है तुम्हें !

तू मेरी जान है- प्यार कब हुआ कैसे हुआ? हमे नहीं पता !

छोड़ दो ना सब बहाने तुम,
मान क्यों नहीं जाते तुम मेरे लिए ही बने हो..!!

दिल को कितना मजबूर कर दिया तुमने,
तुम्हारे सिवा किसी को देखना ही नहीं है इसे..!!

मैंने कल पूछा था नाम तेरा चाँद से,
और वो शर्माकर बादलों में छुप गया..!!

तेरे बिना जीना एक सज़ा है जानी,
खुदा इस सज़ा से दूर रखे मुझे !!

दूर से दीदार कर चुका हूँ मैं,
कसम है तुम्हें अब करीब आओ मेरे !!

नज़रें तो मिल गयी हैं तुमसे,
सुनो अब ज़रा होंठों को भी मिलने दो !!

इस भाग-दौड़ वाली दुनियां में,
बड़ी फुर्सत से इश्क़ हुआ है तुमसे !!

Leave a Comment