ऊंट की पूरी जानकारी Camel Information In Hindi

Camel Information In Hindi ऊंट एक पालतु जानवर हैं। ऊंट को अंग्रेजी में Camel बोलते हैं । Camel शब्द अरबी भाषा के Gmal शब्द से बना हुआ हैं । इसका अर्थ खूबसूरत होता हैं । ऊंट रेगिस्तानी इलाकों में पाया जाता हैं । ऊंट ज्यादा से ज्यादा राजस्थान और गुजरात में पाये जाते हैं ।‌

Camel Information In Hindi

ऊंट की पूरी जानकारी Camel Information In Hindi

ऊंट की शारीरिक संरचना –

ऊंट एक चौपाया जानवर हैं । ऊंट को चार पैर , दो कान , दो ऑंखें और पीठ पर एक उभरा हुआ कुबड़ होता हैं । यह कुबड़ ऊंट की पहचान हैं जो ऊंट को अन्य जीवों से अलग बनाता हैं । ऊंट के पलकों पर तीन परत होते हैं जो ऊंटों को रेगिस्तान के धूलों से बचाते हैं । ऊंटों में देखने की और सुनने की क्षमता भी अधिक होती हैं ।

ऊंट की ऊंचाई 7 फीट तक हो सकती हैं । जब ऊंट पैदा होते है तब ऊंट को कुबड़ नहीं होते लेकिन जैसे जैसे उम्र बढ़ती जाती हैं वैसे वैसे इनके कुबड़ का आकार बढ़ता जाता हैं । ऊंट के शरीर का तापमान 34 से लेकर 41 डिग्री सेल्सियस तक होता हैं । 41 डिग्री सेल्सियस से अधिक तापमान बढ़ने पर ऊंटों को पसीना आने लगता हैं ।

ऊंट का वजन 600 किलो तक हो सकता हैं । रेगिस्तान में जब रेत की हवा चलनी लगती हैं तब ऊंट अपने नथुने बंद कर लेता हैं जिससे ऊंट की नाक में रेत नहीं जाती । ऊंट 65 किमी प्रतिघंटे दौड सकते हैं । ऊंट की कुबड में वसा होता हैं । यह वसा जरुरत पड़ने पर खाना और पानी के रुप में बदल जाता हैं । ऊंट का मुंह दो भागों में बटा हुआ होता हैं । ऊंट इसका उपयोग खाना अच्छी तरह से चबाकर खाने के लिए करता हैं ।

ऊंट एक चौपाया जानवर हैं । ऊंट को रेगिस्तान का जहाज भी कहा जाता हैं ।‌ ऊंट गर्म और सूखे इलाकों में रहना पसंद करते हैं ।‌ रेगिस्तान का गर्म वातावरण ऊंटों के लिए अनुकूल होता हैं ।‌ ऊंट मरूस्थल और रेतीले जगहों पर ज्यादा तेजी से चलते हैं । ऊंट बहोत ही वफादार जानवर हैं ।

ऊंट का खाना –

ऊंट एक शाकाहारी प्राणी हैं । ऊंट फल – फुल , पत्ते , पौधे खाते हैं । ऊंट एक बार में 30 लीटर तक पानी पी सकता हैं । ऊंट के कुबड़ में वसा होता हैं। यह वसा खाना और पानी के रुप में बदल जाता हैं । इसलिए ऊंट बहोत दिनों तक खाना और पानी के बिना रह सकता हैं

ऊंट का उपयोग –

ऊंट का उपयोग यात्रा करने के लिए हो सकता हैं । तंबू , वस्त्र , बिस्तर के लिए ऊंट फर का उपयोग करते हैं । ऊंट रेगिस्तानों में बड़ी दूर तक जा सकते हैं । कई देशों में आर्मी के जवान ऊंट का उपयोग बाॅर्डर पर निगरानी करने के लिए भी करते हैं । ऊंट का उपयोग दूध और चमड़ी के लिए भी किया जाता हैं ।

ऊंट का उपयोग बोझा लेकर जाने के लिए भी किया जाता हैं । गाय के दूध से ज्यादा ऊंट का दूध हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता हैं । ऊंट के दूध में कम फॅट होता हैं । ऊंट के दूध में बहुत सारा आइरन , विटामिन और मिनरल पाया जाता हैं ।‌ राजा महाराजा रेगिस्तान में जंग के लिए भी ऊंट का इस्तेमाल करते थे । ऊंट को पालकर सर्कस में लोगों के मनोरंजन के लिए उपयोग किया जाता हैं ।‌

ऊंट की नस्लें –

1 ) बीकानेरी ऊंट –

यह ऊंट बीकानेर , गंगानगर , सीकर , चुरु , हनुमानगढ़ झुंझुनू में देखने को मिलते हैं । यह ऊंट मध्य प्रदेश के आजू-बाजू के हिस्से में भी देखने को मिलते हैं । यह ऊंट बहोत ही अच्छा रेगिस्तानी पशु हैं ।‌ यह ऊंट भारत के ऊंटों के नस्लों में से एक हैं ।‌ इस ऊंट की ऊंची 12 फीट तक होती हैं ।

इस ऊंट का शरीर मजबूत होता हैं । इस ऊंट की गर्दन मोटी और लंबी होती हैं ।‌ इस ऊंट को ‘ झीपडा़ ऊंट ‘ भी कहा जाता हैं । इन ऊंटों में भारत उठाने की क्षमता अधिक होती हैं ।‌ इन ऊंटों का ज्यादा इस्तेमाल बोझा उठाकर लेकर जाने के लिए किया जाता हैं ।‌ ऊंटों का उपयोग दूध , बाल और खाद उत्पादन के लिए भी किया जाता हैं ।

2 ) जैसलमेरी ऊंट –

यह ऊंट जैसलमेर , जोधपुर और बाड़मेर में देखने को मिलते हैं । इस ऊंट को सवारी करने के लिए और रेतीले जगहों पर अपने दौड़ने के क्षमता के लिए जाना जाता हैं ।‌ इस ऊंट की सवारी और मनोरंजन के लिए बहोत माॅंग होती हैं । इनकी ऊंची 9 फीट तक होती हैं। यह ऊंट स्वभाव से फुर्तीले होते हैं ।‌ यह ऊंट सामान्यतः हल्के भूरे रंग के होते हैं ।‌

3 ) मेवाड़ी ऊंट –

इस ऊंट का नाम मेवाड़ क्षेत्र से पड़ा हैं । यह ऊंट दुध उत्पादन के लिए प्रसिद्ध हैं । यह ऊंट राजस्थान और मध्यप्रदेश के कुछ जीलों में देखने को मिलते हैं । यह ऊंट भुरे और सफेद रंग के होते हैं.

4 ) कच्छी ऊंट –

यह ऊंट गुजरात राज्य के कच्छ के रण में देखने को मिलते हैं । यह ऊंट सामान्यतः मटमैले रंग के होते हैं । इन ऊंटों का शरीर मध्यम आकार का होता हैं ।

5 ) गोमठ ऊंट –

यह ऊंट राजस्थान में सर्वाधिक जोधपुर की फलोदी तहसील में देखने को मिलते हैं । यह ऊंट सवारी के लिए प्रसिद्ध हैं ।

6 ) नाचना ऊंट –

यह ऊंट ज्यादा से ज्यादा राजस्थान के जैसलमेर में देखने को मिलता हैं । यह ऊंट सबसे सुंदर ऊंट होता हैं । सवारी करने के लिए और तेज दौडने के लिए यह ऊंट उपयोगी हैं ।

यह भी जरुर पढ़े :-

Leave a Comment